Type to search





किसके लिए है बिटकॉइन ट्रेडिंग?

Excerpt

किसके लिए है बिटकॉइन ट्रेडिंग?

Share

Cap के अनुसार 21 अक्टूबर तक बिटकॉइन का मार्केट कैपिटल $1.24 ट्रिलियन रहा है. 3 साल के बाद अगर कोई निवेशक क्रिप्टोकरंसी (cryptocurrency investment) बेचता है तो उस पर लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन (long term capital gains) के हिसाब से टैक्स लगेगा. एक साल बाद 2010 में जब बिटकॉइन अभी भी नया था और केवल उत्साही और कंप्यूटर गीक्स के बीच प्रचीलित था. यह भी अच्छी तरह से कभी अपरिहार्य है की योजना बनाई है और वास्तविक परिणाम के बीच विचलन कि व्यावसायिक गतिविधियों में से किसी में भाग लिया है, विदेशी मुद्रा व्यापार जर्नल जो हर किसी के लिए जाना जाता है. बहरहाल अब दोनों देशों के बीच संबंध कुछ हद तक शांत हो गए हैं. उसी के जरिए सिया दंग नामक महिला ने पीयूष को एक लिंक भेजी. पीयूष पुणे की सॉफ्टवेयर कंपनी में इंजीनियर है. हजारीबाग में कुछ महिलाओं ने इलाके की महिला किसानों को जमा किया और 2018 में एक कंपनी बनाई जिसका नाम दिया चुरचू नारी उर्जा फार्मर प्रोड्यूसर कंपनी लिमिटेड.

वाट्सएप चैटिंग के जरिए सिया ने ट्रेडिंग के फायदे बताए. निधिगत सुविधाएं अर्थात् बैंक व्यावसायिक आस्तियों की खरीद अथवा व्यावसायिक खर्चों को पूरा करने के लिए निधि तथा सहायता उपलब्ध कराता है. अगर खरीद-बेच की फ्रिक्वेंसी बहुत ज्यादा है, ट्रेडिंग सिस्टम यानी कि बिटकॉइन जैसी क्रिप्टोकरंसी को तेजी से खरीद और बेच रहे हैं तो इसका मतलब हुआ कि इसका बिजनेस करते हैं. कार्यक्रम का आयोजन रोबो बैंक, नाबार्ड, नीति आयोग के सहयोग से किया गया, जिसमें देशभर के छोटे-बड़े 450 एपीओ ने हिस्सा लिया था. तम मुद्रा जोड़े की कीमत 4 दशमलव स्थानों पर होती है जिसमें पिप अंतिम दशमलव बिंदु का परिवर्तन होता है. लेकिन इसमें एक अन्य कहानी निहित है- एक उलझे हुए त्रिभुज की, जिसमें दो एशियाई दिग्गज आकस्मिक लाभ के लिए प्रतिद्वंद्विता दिखा रहे हैं. अब चीन ने भारत को श्रीलंका के सबसे बड़े निर्यातक के रूप में पछाड़ दिया है. उस समय उन्होंने कहा था कि चीन को “ब्लॉकचेन द्वारा पेश किए गए अवसर को पकड़ कर रखना चाहिए”.

यह वो साल था जब सरकार और बड़ी-बड़ी संस्थाओं ने भी बिटकॉइन को लेकर योजनाओं की घोषणा करना शुरू कर दिया था. साल 2017 में बिटकॉइन में अपना रिकॉर्ड हाई (Bitcoin record High) बनाया था. 3 साल बाद एक बार फिर बिटकॉाइन में बड़ी तेजी देखने को मिली है. बिटकॉइन एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ETF) पहल बार अमेरिका में लॉन्च हुआ था. यह क्रिप्टोकरंसी का एक्सचेंज (Cryptocurrency exchange) है. यह पूरी तरह से ऑनलाइन होती है और व्यापार के रूप में बिना किसी नियमों के इसके ज़रिए व्यापार होता है. श्रीलंका को चीन से मिल रहे जबरदस्त निवेश और कर्जों पर भारत को संदेह है. वहीं, विदेशी मुद्रा व्यापार पुस्तक सुप्रीम कोर्ट से इसकी मंजूरी मिल चुकी है. इन्वेस्टमेंट के हिसाब से लोगों को ये काफी लुभावना लगता है. यहां तक की कई प्रख्यात विश्वविद्यालयों ने भी ये माना था की बिटकॉइन की भूमिका अर्थव्यवस्था में काफी महत्वपूर्ण है. इस प्रकार, यह माना जा सकता है कि जोखिम किसी भी गतिविधि का हिस्सा है. तुम हमेशा एक सौदा से योजना बनाई परिणाम नहीं ले सकता हैलेकिन यह व्यापार में शामिल होने के लिए विशेष रूप से जोखिम भरा है. आज इस कंपनी की 2500 से अधिक अंक धारक हैं, जिसका 18 लाख रुपये अंश पूंजी है और 7000 से अधिक महिला किसान इस कंपनी में जुटी हैं.

शहर के एक युवक को बिटकॉइन ट्रेडिंग में 3 गुना मुनाफा कमाने का लालच देकर 65 लाख रुपये का चूना लगाया गया. विभिन्न मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, यह वो समय था जब चीन की करेंसी काफी नीचे गिर चुकी थी, उस वक्त चीनी बाजारों में बिटकॉइन से व्यापार हो रहा था. क्रिप्टो करेंसी किसी मुद्रा का एक डिजिटल रूप है. यह किसी सिक्के या नोट की तरह ठोस रूप में आपकी जेब में नहीं होता है. उनल में हम आपको पिप की अवधारणा से मिलवाएंगे – क्या और कैसे। कैसे पिप की गणना और मुद्रा जोड़े व्यापार में उपयोग किया जाता है। और यह उदाहरण पर दिखाएगा, तो सब कुछ स्पष्ट हो जाएगा। ये मुख्य विषय हैं, हम इस लेख में एक साथ पता लगाने जाएगा. बैंकों ने भी उधारी देने से हाथ खींचने लगी है। बाजार से नकद में मिलने वाली उधारी बंद होने से दिवालिया होने से बचने का एक साधन था, वह भी इस सरकार ने इस वजनदार साधन को जड़ से समाप्त कर दिया। मप्र सरकार किसानों को बिना मांग राहत पर राहत देती चली जा रही है। इसका सीधा भार विकास कार्यों एवं आम नागरिकों पर पड़ेगा। समर्थन भावों में हो रही देरी से किसान अंदर ही अंदर कुलबुला रहे हैं, विदेशी मुद्रा व्यापार समाचार किंतु कर भी क्या सकते हैं?

Tags:

Leave a Comment